ओस्टोमेट व्यक्तियों को तुरंत अपंग का दर्जा दे केंद्र सरकार –  भवानजी 

मुंबई : सुप्रसिद्ध समाजसेवी और मुंबई के पूर्व महापौर बाबूभाई भवानजी ने कहा है कि केंद्र सरकार को ओस्टोमेट व्यक्तियों को तुरंत अपंग का दर्जा देना चाहिए ताकि इन लोगों को भी कुछ राहत मिले और उनका भी जीवन आसन हो सके .
 श्री भवानजी ने कल भोईवाडा स्थित ओस्टोमी एसोसिएशन आफ इण्डिया के कार्यालय का दौरा करके वहां ओस्टोमेट व्यक्तियों की समस्याओं के बारे में जानकारी हासिल की तथा एसोसिएशन द्वारा चलाये  जा रहे राहत कार्यों का जायजा लिया .
श्री भवानजी ने  बताया कि ओस्टोमी ऐसी बीमारी है जब आदमी के मल मूत्र  निकास का प्राकृतिक मार्ग  अवरुद्ध हो जाता है तब ऐसे लोगों का आपरेशन करके मल मूत्र निकास के लिए कृतिम मार्ग तैयार  किया जाता  है और रोगी के पेट के पास एक थैली चिपका दी जाती जिसमें हमेशा मल मूत्र का विसर्जन होता रहता है .इस थैली को हमेशा बदलना पड़ता रहता है जो काफी खर्चीला होता होता है .ऐसे लोगों को हमेशा बड़े डाक्टरों के संपर्क में रहना पड़ता है .इस रोग के शिकार लोग काम करने में भी असमर्थ हो जाते  हैं क्योंकि मल मूत्र की थैली हमेशा साथ रहने के कारण वे बाहर निकलने में  भी संकोच करते हैं . इस थैली में हमेशा लीकेज का भी डर बना रहता है .
उन्होंने कहाकि यदि सरकार उन्हें अपंग का दर्जा देगी तो उन्हें भी रेलयात्रा आदि में कन्सेशन मिलेगा तथा उनके पुनर्वास  का रास्ता साफ हो सकता है .इस कदम से ओस्टोमेट व्यक्तियों में भी आशा का संचार हो सकता  है और उनमें भी जीवन के प्रति  आकर्षण पैदा हो सकता है .उन्होंने केंद्र सरकार से ओस्टोमेट व्यक्तियों को मेडिकल खर्च का अनुदान देने,उनके लिए रोजगार और पेंशन आदि की व्यवस्था करने की  भी मांग की है .
श्री भवानजी ने  पीएम श्री नरेन्द्र मोदी,सामाजिक  कल्याण मंत्री थावर चन्द्र गहलोत ,सामाजिक कल्याण  राज्य मंत्री रामदास आठवले , रेल मंत्री पीयूष गोयल तथा स्वास्थ्य मंत्री हर्ष वर्धन से मांग की है कि वे ओस्टोमेट व्यक्तियों की दयनीय दशा पर ध्यान देकर उन्हें तुरंत अपंग का दर्जा दें .
इसके पूर्व संस्था के सचिव श्री शेखर भाई ठाकुर ने  शाल और पुष्प गुच्छ देकर श्री भवानजी का स्वागत किया .इस अवसर पर  समाजसेवी श्री राजेंद्र गुप्ता ,संस्था के प्रबंधक श्री पी. डिगामा ,सिस्टर मारिया करवाल्हो, एडवोकेट दुबे ,राजीव पाण्डेय आदि उपस्थित थे .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *