Network Marketing

डायरेक्ट सेलिंग में रिक्रूटमेंट (भर्ती) कैसे बढ़ाएं Direct Selling Me Bharti Kaise Badhaye

Spread the love

 

डायरेक्ट सेलिंग को एमएलएम या नेटवर्क मार्केटिंग भी कहते हैं.

इस बिजिनेस में टीम बनाना सबसे महत्वपूर्ण होता है.

इस बिजिनेस में जिसने जितनी बड़ी टीम बना ली उसका इनकम भी उतना ही बड़ा होता है.

इसलिए यहाँ भर्ती पर विशेष जोर दिया जाता है.

Read: How To Get Success in MLM

डायरेक्ट सेलिंग में रिक्रूटमेंट / भर्ती कैसे बढ़ाएं

भर्ती बढाने के लिए हमें भर्ती की टैक्टिस सीखनी पड़ती है तब जाकर फिल्ड में अच्छा रिजल्ट मिलता है.

भर्ती किये गए लोगों को इस बिजनेस में माहिर बनाया है तब जाकर टीम का अच्छी तरह से विकास होता है.

रिक्रूटमेंट बढ़ाने के लिए पहले हमें प्रास्पेक्ट को समझने का प्रयास करना चाहिए. प्रास्पेक्ट 4 प्रकार के होते हैं।

उनकी गुणवत्ता के आधार पर हम ज्वाइनिंग का प्रतिशत तेजी से बढ़ा सकते हैं।

Read: Why To Do Network Marketing

1) Compulsory

इस प्रकार के प्रास्पेक्ट भरोसेमंद होते हैं। हम पर उनका भरोसा होता है। वे सहज ही हमारे साथ बिज़नेस करने के लिए तैयार हो जाते हैं। लेकिन अगर वे तैयार नहीं होते हैं तो मतलब साफ या तो हमारा आपसी भरोसा कमजोर है या हम उन्हें अपना बिज़नेस प्लान सही तरीके से समझाने में सफल नहीं हुए हैं।

2) Obligatory

इस प्रकार के प्रास्पेक्ट वे होते हैं, जिन पर भूतकाल में हम कभी एहसान किये होते हैं। वे हमारे एहसान तले इतने दबे होते हैं कि हमारे प्रस्ताव को इनकार नहीं कर पाते। वे हमारे किये एहसान के बदले में हमारे आफर को स्वीकार कर लेते हैं।

Read: Top 10 Network Marketing Companies in India

3) Emotional

वे प्लान देख या सुनकर चार्ज हो जाते हैं। जोश में बिज़नेस करने के लिए तैयार हो जाते हैं। इन्हें बिज़नेस में बनाये रखने के लिए लगातार प्रोत्साहन और जोश भरते रहने की जरूरत होती है।

लेकिन इनके साथ खतरा यह होता है कि जोश का ज्वार कम होते ही ठंडे होने लगते हैं। इसलिए इन्हें कई तरीकों से सँभाल कर रखना होता है।

Read: How To Join Mi Lifestyle

4) Understanding

इस प्रकार के प्रास्पेक्ट प्लान और बिज़नेस को पूरी तरह समझकर नेटवर्किंग में आते हैं।

एक बार बिज़नेस में आने के बाद फिर वे पीछे मुड़कर नहीं देखते। ये टिकाऊ होते हैं।

ऐसे प्रास्पेक्ट की संख्या बहुत कम होती है।

क्योंकि इसमें प्रास्पेक्ट के खुले,सुलझे दिमाग और धीरज की जरूरत होती है।

Read: Benefits of Network Marketing

निष्कर्ष

पहले और दूसरे प्रकार के प्रास्पेक्ट के नेटवर्किंग बिज़नेस में आने का प्रतिशत अधिक देखा गया है।

इसलिए इस पर अधिक फोकस करना चाहिए। तीसरे प्रकार के प्रास्पेक्ट को भी आजमाते रहना चाहिए।

उपर्युक्त तीनों को चौथी कैटेगरी में लाने की कोशिश करनी चाहिए। सीधे समझाकर भी प्रास्पेक्ट लाने का प्रयास सराहनीय है।

अधिक जानकारी के लिए मोबाइल नंबर ८१०४७९३६७५ पर संपर्क भी कर सकते हैं .


Spread the love

Leave a Comment