Career

फिल्म डायरेक्टर कैसे बनें? Film Director Kaise Bane?

Film Director Kaise Bane
Spread the love

फिल्म निर्देशन एक आकर्षक पेशा है. आजकल इस पेशे में गैर-फिल्मी परिवारों के लोग काफी तेज गति से जमीन हासिल करने लगे हैं. एक ऐसा करियर जो पिछले 100 वर्षों से भारतीय फिल्म उद्योग के कुछ परिवारों तक सीमित था, ने अब यह बंधन तोड़ दिया. आज अनेक डायरेक्टर हैं जिनकी कोई फिल्मी पृष्ठभूमि नहीं रही.

भारत दुनिया का एक बड़ा मनोरंजन उद्योग है. मुंबई में स्थित इस उद्योग को मयनागरी या बॉलीवुड के रूप में भी जाना जाता है. आजकल दक्षिण भारत में भी समान रूप से फिल्म उद्योग विकास कर रहाहै.

फिल्म निर्माण में फीचर फिल्में, वृत्तचित्र, प्रचार फिल्में, टीवी विज्ञापन, संगीत वीडियो आदि शामिल हैं. इन सभी रचनात्मक कार्यों में निर्माता, निर्देशक, अभिनेता, स्क्रीन प्ले राइटर, संवाद लेखक, डांस निर्देशक, फ़ोटोग्राफ़र और कई सारे तकनीकी और गैर-तकनीकी पेशेवर जैसे कई कुशल पेशेवर शामिल हैं.

ये सभी फिल्म बनाने में अपनी भूमिका निभाते हैं. ये प्रतिभाशाली लोगों का पेशा है जो अकूत प्रसिद्धि और पैसा पाने का माध्यम है.

हालाँकि फिल्म बनाने के लिए सभी पेशेवरों की अपनी महत्वपूर्ण भूमिका होती है लेकिन इन सब में सबसे महत्वपूर्ण है फिल्म का निर्देशक. एक निर्देशक फिल्म यूनिट का नेतृत्व करता है.

उसके पास फिल्म निर्माण की परियोजना को सफलतापूर्वक चलाने की जिम्मेदारी है जिसे पूरा करने में वर्षों लग सकते हैं. वह केवल भौतिक स्रोतों को प्रबंधित करने के लिए ही नहीं बल्कि मानव संसाधनों के लिए भी जिम्मेदार होता हैं.

हालाँकि अभिनेता / अभिनेत्रियाँ किसी फिल्म की सफलता का पूरा श्रेय लेते हैं, लेकिन वास्तविक अर्थ में वह निर्देशक होता है जो सफलता के लिए जिम्मेदार होता है. जैसे कि किसी फुटबॉल टीम के कोच को सफलता या हार के लिए जिम्मेदार ठहराया जाता है. हालाँकि यहाँ भी खिलाड़ी ही सुर्खियों में रहता है.

इस प्रकार कुछ भी निर्देशित करने के लिए आदमी को मेहनती, जुनूनी, और अपने काम के बारे में भावुक होना चाहिए. उसके पास कल्पना और दूरदर्शिता की उच्च भावना होनी चाहिए. एक निर्देशक टीम लीडर होता है जो अधीनस्थों और अभिनेताओं आदि का नेतृत्व करता है.

सब लोग उसके विश्वासों पर काम करते हैं और जो कुछ भी वह उन्हें बताता है वह करते हैं. इस प्रकार उसे एक जिम्मेदार पेशेवर होना चाहिए जो सभी स्थितियों को हैंडल करने में सक्षम हो. एक डायरेक्टर को अपने रचनात्मक कौशल व गुणों को कुछ पाठ्यक्रमों और अनुभव से प्राप्त करना पड़ता है.

यदि आप फिल्म निर्देशक बनना चाहते हैं और फिल्म डायरेक्शन में करियर बनाना चाहते हैं, तो यह पोस्ट आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित होगी. क्योंकि इस पोस्ट में मैंने फिल्म डायरेक्शन से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी दी है.

फिल्म डायरेक्टर कैसे बनें

१. फिल्म निर्देशक बनने के लिए आपको एक रचनात्मक दिमाग रखने की जरूरत है. रचनात्मकता एक फिल्म निर्देशक की पहली योग्यता है. आप दो तरह से फिल्म निर्देशक बन सकते हैं.

पहला यह है कि आप एक अच्छे फिल्म संस्थान से फिल्म निर्देशन का कोर्स करते हैं. इसके बाद, आप एक फिल्म या टीवी प्रोडक्शन हाउस में एक निर्देशक के सहायक के रूप में करियर शुरू कर सकते हैं. फिल्म निर्देशक बनने का दूसरा तरीका यह है कि 12 वीं या स्नातक होने के बाद, आप फिल्म या टीवी निर्देशक के सहायक के रूप में करियर बना सकते हैं.

२. फिल्म निर्देशन के क्षेत्र में आने के लिए फिल्म निर्देशन पाठ्यक्रम आवश्यक नहीं है. लेकिन फिल्म निर्देशन का कोर्स करने का फायदा यह है कि आपको फिल्म निर्माण और फिल्म निर्देशन की मूल बातें पता चल जाती हैं.

इसलिए जब आप किसी निर्देशक की सहायता करेंगे, तो चीजों को समझना आसान होगा. यदि आप बिना किसी फिल्म मेकिंग कोर्स के डायरेक्शन में आते हैं, तो आपको फिल्म निर्देशन की बारीकियों को सीखने में थोड़ा और समय लगेगा.

३. जो लोग सामान्य परिवार से ताल्लुक रखते हैं और जिनके पास फिल्म निर्देशन का कोर्स करने के लिए पैसे नहीं हैं. मैं ऐसे लोगों को सलाह दूंगा कि वे एक निर्देशक के सहायक बनकर अपना करियर शुरू करें. सामान्यतया आपको एक सहायक निर्देशक के रूप में ही शुरुआत करनी होगी चाहे आप फिल्म डायरेक्शन का कोर्स करें या न करें.

४. आज के दौर में फिल्म इंडस्ट्री बहुत तेजी से बढ़ रही है. फिल्म इंडस्ट्री में करियर की बात करें तो फिल्में, मनोरंजन किसे पसंद नहीं है? फिल्में और टीवी कार्यक्रम मनोरंजन का मुख्य साधन हैं.

फिल्म इंडस्ट्री बड़ी संख्या में लोगों को जीविका कमाने में मदद कर रही है. आप बॉलीवुड, साउथ सिनेमा, भोजपुरी सिनेमा आदि में बतौर निर्देशक काम कर सकते हैं. इसके अलावा, आप टीवी धारावाहिक में सहायक निर्देशक के रूप में काम कर सकते हैं. आप विज्ञापन फिल्मों, वृत्तचित्र फिल्मों आदि में एक निर्देशक के रूप में अपना करियर बना सकता है.

५. वर्तमान में, फिल्म निर्देशन के क्षेत्र में काम की कोई कमी नहीं है. फिल्मों का निर्माण दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है. कई बड़े बजट की फिल्में अब बन रही हैं. दूसरी ओर, टीवी सीरियल का निर्माण भी बहुत तेजी से बढ़ा है.

आज सैकड़ों टीवी धारावाहिक प्रसारित हो रहे हैं. इस प्रकार यदि आप फिल्म उद्योग के किसी भी क्षेत्र में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं, तो यह आपके लिए बहुत अच्छा करियर विकल्प हो सकता है.

फिल्म निर्देशक बॉलीवुड फिल्म, साउथ सिनेमा, भोजपुरी, टी. वी. धारावाहिक, विज्ञापन फिल्में, डॉक्यूमेंट्री फिल्में, शैक्षिक फिल्में, वेब श्रृंखला, तथा यूट्यूब आदि में काम कर सकते हैं.

६. आप फिल्म निर्देशक बनने के लिए आप डिप्लोमा इन फिल्म और टीवी डायरेक्शन, पीजी डिप्लोमा इन फिल्म डायरेक्शन कर सकते हैं. आप सिनेमा कोर्स में बीएससी भी कर सकते हैं. मास कम्युनिकेशन और फिल्म प्रोडक्शन का कोर्स करके भी आसानी से फिल्म निर्देशक बना जा सकता है.

७. अगर आप फिल्म निर्देशन में डिप्लोमा, सर्टिफिकेट या बी. एससी. करना चाहते हैं तो आपको किसी भी स्ट्रीम से 12 वीं पास करनी होगी. पीजी डिप्लोमा इन डायरेक्शन के लिए आपको किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएट होना चाहिए.

फिल्म निर्देशन पाठ्यक्रमों में सर्टिफिकेट कोर्स 3 से 6 महीने के होते हैं. इस कोर्स की फीस 40 से 80 हजार रुपये तक हो सकती है. डिप्लोमा कोर्स और पीजी डिप्लोमा कोर्स 1 से 2 साल के होते हैं. इन पाठ्यक्रमों की फीस प्रति वर्ष 80 हजार से 1 लाख है. सिनेमा में B. Sc या फिल्म मेकिंग कोर्स में B. Sc 3 साल का होता है. इसकी फीस हर साल 50 हजार से लेकर 1 लाख तक होती है.

८. बहुत सारे लोग फिल्म निर्देशन या फिल्म मेकिंग कोर्स करते हैं. लेकिन सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि फिल्म निर्देशन में काम कैसे किया जाए. फिल्म निर्देशन में काम पाने का सबसे आसान तरीका है, फिल्म उद्योग से जुड़े लोगों के साथ अपनी पहचान बढ़ाना.

फिल्म उद्योग में ज्यादातर काम एक डिग्री से नहीं बल्कि संपर्क से मिलता है. आपको अधिक से अधिक फिल्म प्रोडक्शन हाउस में संपर्क बढ़ाना चाहिए. इसके अलावा आप सूटिंग सेट पर जाएं और डायरेक्शन टीम से संपर्क करें, उनसे बात करें. फिल्म की अपेक्षा सीरियलों में काम पाना आसान है.

९. शुरू में असिस्टेंट डायरेक्टर को ३० से ४० हजार तक सेलरी मिलती है. लेकिन अनुभव हो जाने पर आप लाखों और करोंड़ों में कमाई कर सकते हैं. आप स्वतंत्र रूप से भी डायरेक्शन का काम कर सकते हैं. यहाँ आपको प्रतिदिन २ से ३ हजार रुपये तक फीस मिल सकती है.

दोस्तों आज देश में तमाम निजी और सरकारी संस्थान हैं जहाँ से आप फिल्म डायरेक्शन से संबधित कोर्स कर सकते हैं. फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट आफ इंडिया, पुणे इस क्षेत्र का एक प्रतिष्ठित संस्थान हैं.

इस लेख में हमने फिल्म डायरेक्टर के करिअर से जुड़ी सारी जानकारी दे दी है. यदि आपको कोई और जानकारी चाहिए तो आप कमेन्ट बाक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं.


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *