भ्रष्टाचार के खात्मे के लिए जनप्रतिधियों और सरकारी कर्मचारियों पर नकेल कसना जरुरी-भवानजी

मुंबई :  वरिष्ठ भाजपा नेता और मुंबई के पूर्व उपमहापौर बाबू भाई भवानजी ने कहा है कि  देश से भ्रष्टाचार को अगर ख़त्म करना है तो सभी जन प्रतिनिधियों और सरकारी अधिकारियों  पर नकेल कसना बहुत जरुरी है .

 

श्री भवानजी आज सुप्रीम कोर्ट के उस फैसले पर प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहे थे जिसमें कहा गया है  कि  ग्राम पंचायत सदस्य और नगरसेवक के परिजन यदि अवैध निर्माण अथवा अतिक्रमण करते हैं तो ऐसे नगरसेवकों और ग्राम पंचायत सदस्यों की सदस्यता को रद्द कर दिया जाना चाहिए .
श्री भवानजी ने कहाकि इस नियम के दायरे में हर सरकारी कर्मचारी और जनप्रतिनिधि को लाया जाना चाहिये  .ग्राम पंचायत सदस्य से लेकर एमपी तक तथा पटवारी से लेकर कमिश्नर तक  पर यह नियम लागू होना चाहिए .
उन्होंने कहाकि जब कोई व्यक्ति सरकारी नौकरी ज्वाइन करता है तो उसी समय उसकी और उसके परिजनों की सम्पत्ति का व्यौरा मांग लिया जाना चाहिए और हर वर्ष उसकी संपत्ति का खुलासा माँगा जाना चाहिए .इसी प्रकार सभी  जनप्रतिनिधियों से भी चुनाव के समय ही  उनकी संपत्ति का व्यौरा मांग लिया जाना चाहिए .उन्होंने कहाकि यदि इस नियम का कड़ाई से अमल नहीं किया गया तो भ्रष्टाचार पर रोक संभव नहीं है .क्योंकि बिना लोकसेवकों  की मिलीभगत के कोई भी भ्रष्टाचार होता नहीं है
उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के फैसले की सराहना करते हुए कहा कि  इस निर्णय की परिधि में  सभी जन प्रतिनिधियों और सरकारी कर्मचारियों को लाया जाना चाहिए . उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने प्रशासन के ऊपरी लेवल पर तो भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाया है लेकिन निचले स्तर पर अभी बहुत कुछ किया जाना बाकी है .और बिना निचले स्तर तक भ्रष्टाचार ख़त्म किये जनता को कोई फायदा नहीं मिलने वाला है .सरकार के प्रयास का तभी कोई मतलब है जब आम आदमी को न्याय मिले .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *