Career

सफल पत्रकार कैसे बनें India Me Patrakar (Journalist) Kaise Bane?

patrakar kaise bane
Spread the love

दोस्तों आज के समय में पत्रकारिता एक बहुत ही आकर्षक पेशा बन चुकी है. आज पत्रकारिता की ताकत का अहसास हर क्षेत्र में हो रहा है. वैसे भी पत्रकारिता को लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ कहा जाता है.

लोकतंत्र को मजबूत बनाने और जनमत को प्रभावित करने का यह एक कारगर साधन है. यह आकर्षण देखकर आज बहुत सारे लोग पत्रकार बनना चाहते हैं. पत्रकार ऐसे पेशेवर होते हैं जो तमाम विषयों के बारे में शोध, साक्षात्कार और लेखन करते हैं. जो दर्शकों की एक विस्तृत श्रृंखला के लिए अपील करते हैं.

यद्यपि पत्रकारिता का क्षेत्र बहुआयामी है और नौकरी की विविधता से समृद्ध है, लेकिन इस क्षेत्र में उत्कृष्टता प्राप्त करने की चाह रखने वाले किसी भी व्यक्ति के लिए तथ्यपरक जानकारी को इकट्ठा करने और सूचनाओं को आकर्षक शब्दों में बदल देने की क्षमता महत्वपूर्ण होती है.

इस लेख में हम यह बताने जा रहे हैं कि एक सफल पत्रकार बनने के लिए हमें क्या करना चाहिए.

पत्रकार कैसे बनें? How To Become Journalist in India?

१. पत्रकार समाचारों और सूचनाओं का आकलन करते हैं, इकट्ठा करते हैं, सृजन करते हैं, और कहानी को कौन, क्या, कब, कहां और कैसे के आधार पर संप्रेषित करते हैं. पत्रकारिता संचार के अन्य रूपों ट्वीट या ईमेल से अलग है. सच्ची पत्रकारिता का अर्थ सत्यापित जानकारी प्रदान करना है.

इसमें तथ्यों और तथ्यों के पीछे की सच्चाई का वर्णन होता है. पत्रकार आमतौर पर असाधारण शोध और लेखन कौशल, आत्मविश्वास, समय बद्धता आदिगुण होने चाहिए. सटीक जानकारी और निष्पक्ष समझ आपको इस व्यवसाय में बहुत आगे ले जा सकती है.

२. ज्यादातर पत्रकार एकल रूप में या एक टीम के रूप में कहानियों का अनुसंधान, लेखन, निर्माण और संपादन करते हैं. इस फील्ड में स्पर्धा ज्यादा है. अधिकांश पत्रकार आमतौर पर एक प्रशिक्षु के रूप में अपना करियर शुरू करते हैं. पत्रकारिता में औपचारिक अवधारणाएं एक कहानी का रोडमैप हैं.

इसमें पीत पत्रकारिता, वेब ब्लॉगिंग, वॉचडॉग पत्रकारिता, सॉफ्ट न्यूज, वीडियो या प्रसारण पत्रकारिता, स्टाइल गाइड आदि की पूरी समझ शामिल है.

बयानबाजी और लेखन, मानविकी और रचना, सामाजिक और व्यवहार विज्ञान, और बहुत सी बातें इसमें शामिल हो सकती हैं. पत्रकारों को सूचना फैलाने के लिए लिखित, मौखिक और दृश्य तकनीकों की अच्छी समझ होनी चाहिए.

३. पत्रकारिता में विधियाँ किसी कहानी के केंद्र के रूप में कार्य करती हैं, और इसमें कौन, कब, क्या, कहाँ और कैसे शामिल होता है. पत्रकार एक कहानी को प्रमाणित करने के लिए अभिलेखीय वीडियो और सोशल मीडिया के साथ-साथ अनुसंधान विधियों, साक्षात्कार, और रिकॉर्ड आदि का इस्तेमाल करते हैं.

एक सच्चा पत्रकार मेहनती और अनुसंधान के माध्यम से ख़बरों को प्रमाणित करता है. पत्रकारिता तकनीक ऐसे सवालों के जवाब देती है: क्या कहानी जरूरी है? क्या कहानी प्रासंगिक है? क्या कहानी एक प्रश्न या प्रश्नों का उत्तर देती है और जानकारीपूर्ण और सूचनात्मक होने के उद्देश्यों को पूरा करती है?

यह एक कहानी के सभी पहलुओं की जांच करता है. इसमें रचनात्मक या तकनीकी लेखन कौशल, सॉफ्टवेयर, भाषा, शैली आदि का उपयोग करना शामिल है.

४. आज पत्रकारिता के क्षेत्र में नौकरियों के लिए भारी प्रतिस्पर्धा है. चाहे ऑनलाइन हो या प्रिंट, एक मजबूत पोर्टफोलियो पत्रकारों के करियर में एक आवश्यक कदम है.

आपके लेखन या वॉयस क्लिप के उदाहरणों से भरा एक पोर्टफोलियो चाहिए जो भावी नियोक्ताओं को दिखाएगा कि आप विभिन्न शैलियों में लिख सकते हैं, या आपके पास प्रसारण पत्रकारिता के लिए एक गुणवत्ता वाली आवाज़ है. आपके पोर्टफोलियो को नियमित रूप से अपडेट किया जाना जरुरी है.

इसका उद्देश्य अपने सबसे अच्छे काम को उजागर करना होता है. उद्योग कनेक्शन और नेटवर्किंग हासिल करना भी आपके करियर के लिए अपरिहार्य है. यह कॉलेज में शुरू होता है और आपके पूरे करियर में जारी रहता है.

यहां तक कि अगर आप एक स्वतंत्र पत्रकार के रूप में काम करना चुनते हैं, तो पुराने को बनाए रखना और नए उद्योग कनेक्शन पैदा करना एक निरंतर प्रगति सुनिश्चित करेगा.

दोस्तों इस लेख में हमने आपको बताया कि आप कैसे एक सफल पत्रकर बन सकते हैं. यदि आपको कोई और जानकारी चाहिए तो आप कमेन्ट बाक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं.


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *