प्रधानमंत्री वय वंदना योजना की जानकारी- Pradhanmantri Vay Vandana Yojana Ki Jankari Hindi

  • by

भारत सरकार ने प्रधानमंत्री वय वंदना योजना के नाम से एक नई पेंशन स्कीम शुरू की है जिसे २०१७ -१८ के बजट में वरिष्ठ नगरिकों के लिए वापसी की गारंटी के साथ लांच किया गया. इस लेख में इस योजना से जुड़ी सारी जानकारी दी जा रही है.

पीएम वय वंदना योजना

१. प्रधानमंत्री वय वन्दना योजना पेंशन बीमा योजना की तरह ही है जिसे २०१४-१५ में लांच किया गया था. इस स्कीम को सबसे पहले अटल बिहारी बाजपेयी के कार्यकाल में सन २००३-०४ के दौरान लांच किया गया था.

२. ६६ लाख के एकमुश्त प्रीमियम भुगतान पर आपको आजीवन २००० हजार रुपये मासिक पेंशन मिलेगी और इस पर ९ प्रतिशत का एश्योर्ड रिटर्न भी मिलेगा. वय वंदना पेंशन बीमा योजना को साल २०१४-१५ के दौरान लान्च किया गया और वह लोग जो ६० वर्ष की उम्र के थे वे इस योजना में निवेश के लिए पात्र थे. इस स्कीम के तहत ६६६६६५ रुपये एक मुश्त जमा करने पर आपको मासिक आधार पर ५००० रुपये की पेंशन देने का प्रावधान था.

२. केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री वय वंदना योजना को ४ मई २०१७ को लांच किया. वरिष्ठ पेंशन योजना की ही तरह प्रधानमन्त्री वय वंदना योजना उन लोगों के लिए एक पेंशन योजना है जिनकी उम्र ६० वर्ष से ऊपर है. इस योजना के अंतर्गत ८ फीसदी का सम एश्योर्ड भी किया गया है.

३. वे भारतीय नागरिक जो ६० वर्ष से ज्यादा उम्र के हैं वे इस योजना में निवेश के पात्र हैं. लगभग १४४५७८ रुपये के एकमुश्त भुगतान कर आप अगले १० साल के लिए १००० हजार की मासिक पेंशन पाने के हक़दार हो जाते हैं. वहीँ ७२२८९२ रुपये एकमुश्त जमा करके आप ५००० हजार रुपये की मासिक पेंशन के हकदार बन जाते हैं.

४. इस योजना में पेंशनभोगी, उसके पति, पत्नी और उनके आश्रितों को शामिल किया जायेगा. योजना अधिकतम १० साल के लिए है.

पालिसीहोल्डर मासिक, तिमाही, छमाही, सालाना आधार पर पर भुगतान का चयन कर सकता है. इस पर मिलने वाला एश्योर्ड रिटर्न ८ फीसदी होता है. पालिसीहोल्डर की मृत्यु की स्थिति में प्रीमियम की राशि उसके नामित उत्तराधिकारी को वापस कर दिया जायेगा.

पेंशन आय कर योग्य होगी. एलआईसी इस योजना का एक्सक्लूसिव एडमिनिस्ट्रेटर होगा. पेंशन पेमेंट ईसीएस और एनईएफटी के जरिये होगा. यह योजना सेवाकर छूट सूची में है. यह प्लान एलआईसी की वेबसाईट www. licindia. in से ऑनलाइन भी खरीदा जा सकता है.

५. पेंशनरों को पालिसी अवधि के दौरान पेंशन मिलेगी. अगर आप मासिक मोड़ का चुनाव करते हैं तो पालिसी करने के अगले महीने से आपको पेंशन मिलने लगेगी.

६. पालिसी टर्म के दौरान पेंशनर की मौत होने पर नामिनी को परचेज प्राईस वापस कर दिया जायेगा.

७. योजना में निवेश के १० साल बाद पेंशन के अंतिम भुगतान के साथ ही जमा राशि भी वापस लौटा दी जाती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *