सौभाग्य योजना ऑनलाइन – Saubhagya Yojana Online (Hindi)

  • by

देश के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में चार करोड़ से अधिक गरीब परिवारों को दिसंबर २०१८ तक बिजली प्रदान करने के उद्देश्य से प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना ‘सौभाग्य योजना’ की शुरुआत की.

यह १६३२० करोड़ रुपये की योजना है. मोदी ने नई दिल्ली में ‘सौभाग्य’ योजना की शुरुआत करते हुए कहा कि गरीबों के जीवन में शानदार बदलाव लाने के लिए १६००० करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे.

सरकार मार्च २०१९ के लक्ष्य से एक साल पहले सभी घरों में बिजली पहुंचाने का लक्ष्य लेकर चल रही है. यह योजना २५ सितम्बर २०१७ को शुरू की गयी.

प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना – प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना

१. प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना के लाभ इस प्रकार है:

  • सभी इच्छुक परिवारों तक बिजली की पहुंच,
  • मिट्टी के तेल का विकल्प,
  • शैक्षिक सेवाओं में सुधार,
  • स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार,
  • संचार में सुधार,
  • सार्वजनिक सुरक्षा में सुधार,
  • नौकरी के अवसरों में वृद्धि,
  • जीवन की गुणवत्ता (विशेष रूप से महिलाओं के दैनिक कार्यों ) में सुधार आदि.

२. योजना के तहत सभी गरीब परिवारों को मुफ्त में बिजली कनेक्शन दिया जाएगा. पीएम मोदी ने कहा कि अब स्थिति बदल गई है और राष्ट्र बिजली की कमी से अधिशेष की ओर बढ़ रहा है. एक आधिकारिक बयान के अनुसार, ‘सौभाग्या’ परियोजना का कुल परिव्यय १६३२० करोड़ रुपये है जबकि सकल बजटीय सहायता (GBS)१२३२० करोड़ रुपये है. केंद्र सभी राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों को इस योजना के लिए बड़ी धनराशि प्रदान करेगा.

३. सरकार मुफ्त बिजली कनेक्शन के लाभार्थियों की पहचान करने के लिए सामाजिक आर्थिक और जाति जनगणना २०११ के आंकड़ों का उपयोग करेगी. जनगणना के तहत कवर नहीं किए गए गैर-विद्युतीकृत घरों को भी ५०० रुपये के भुगतान पर योजना के तहत बिजली कनेक्शन प्रदान किया जाएगा जो कि बिजली बिल के माध्यम से १० किस्तों में DISCOM द्वारा वसूला जाएगा.

४. ग्रामीण विद्युतीकरण निगम लिमिटेड पूरे देश में इस योजना के संचालन के लिए नोडल एजेंसी रहेगा. २०१५ में पीएम मोदी ने अपने स्वतंत्रता दिवस के भाषण में १००० दिनों में शेष १८५२२ बिजलीविहीन गांवों का विद्युतीकरण करने की घोषणा की थी. हालाँकि बिजली मंत्रालय को इस साल दिसंबर तक सभी बसे गांवों का विद्युतीकरण करने की उम्मीद है.

५. सौभाग्य योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक के घर में बिजली कनेक्शन नहीं होना चाहिए. २०११ की जनगणना में उसका नाम होना चाहिए. जनगणना में नाम नहीं है तो आवेदक को ५०० रुपये का शुल्क देना होगा. आवेदक के पास आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, पते का प्रमाण पत्र, निवास प्रमाण पत्र, मोबाइल नंबर और पासपोर्ट साईज फोटो होनी चाहिए.

६. इस योजना का लाभ लेने के लिए आपको ऑनलाइन आवेदन करना होगा. इसके लिए आपको योजना की आफिशियल वेबसाईट https://saubhagya. gov. in पर विजिट करना होगा और ऑनलाइन आवेदन करना होगा. आप इसी पोर्टल पर यह भी जानकारी कर सकते हैं कि आपको बिजली कब मिलेगी. योजना का टोल फ्री नंबर १८००-१२१-५५५५ है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *