शिक्षकों की समस्याओं पर तुरंत कार्रवाई का शिक्षण आयुक्त का निर्देश

मुंबई : महाराष्ट्र  के शिक्षण आयुक्त श्री विशाल सोलंकी ने राज्य के शिक्षण संचालक श्री दिनकर पाटील को निर्देश दिया है कि वे एक हप्ते के भीतरर मुंबई टीडीएफ़ द्वारा उठाये गए मुदद्दों पर कार्रवाई करें .

मुंबई  टीडीएफ़ ने शिक्षा विभाग के भ्रष्टाचार, अत्याचार व शिक्षकों और शिक्षकेत्तर कर्मचारियों की विभिन्न समस्याओं को लेकर शिक्षण आयुक्त को ज्ञापन दिया था जिस पर तत्कालीन  आयुक्त  ने वरिष्ठ अधिकारी दत्तात्रय जगताप के नेतृत्व में एक जाँच समिति का गठन का किया था . बाद में   वर्तमान आयुक्त  विशाल सोलंकी ने  टीडीएफ़ की मांग पर एसएससी बोर्ड  के लातूर  डिवीजन के चेयरमैन महेश  करजगांवकर के नेतृत्व में भी एक जाँच समिति गठित की थी .उक्त दोनों अधिकारीयों ने आयुक्त को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है .

इस रिपोर्ट पर कार्रवाई  किये जाने की मांग को लेकर टीडीएफ़ ने २६ अगस्त को पुणे में आयुक्त के कार्यालय के सामने आमरण उपोषण किया .  राष्ट्रीय सैनिक संस्था ने टीडीएफ के इस आन्दोलन को सक्रिय समर्थन  दिया था . इस अवसर पर मुंबई टीडीएफ के अध्यक्ष श्री जनार्दन जंगले ने कहाकि जब तक पीड़ित शिक्षकों को न्याय नहीं मिलता और दोषी अधिकारीयों और संस्थाओं पर कार्रवाई नहीं होती तब तक उनका  आन्दोलन जारी रहेगा .  सैनिक संस्था के मुंबई अध्यक्ष श्री पंजाब राव मुदाने ने कहाकि शिक्षकों की हर लड़ाई में सैनिक संस्था उनके साथ है . जब तक हर शिक्षक और कर्मचारी को न्याय नहीं मिल जाता,सैनिक संस्था के लोग शांत नहीं बैठेंगे . इस अवसर पर  श्री राज कुमार पाटील ,मादर आफ आर्फन  कांचन वीर , सुरेन्द्र मिश्र ,अश्विनी पवार ,लालजी कोरी ,बीके पाटील , बालकृष्ण खडसे , मनोज यादव ,सुनील वडतकर  सहित बड़ी संख्या में टीडीएफ़ और सैनिक संस्था के पदाधिकारी और शिक्षक उपस्थित थे .

READ  रानी लक्ष्मीबाई क्रांतिकारी पार्टी के कार्यालय का उद्घाटन

उपोषण शुरू होते ही शिक्षण आयुक्त श्री विशाल शोलंकी  ने आँदोलनकारियों के प्रतिनिधि मंडल से वार्ता की और शिक्षण संचालक श्री दिनकर पाटिल को  लिखित निर्देश  दिया कि वे एक सप्ताह के भीतर सभी मुद्दों पर करवाई करें और जहाँ भी जरूरी हो शिक्षण अधिकारियों के खिलाफ भी अनुशासनात्मक करवाई करें . अंत में  टीडीएफ़ ने  शिक्षण आयुक्त व सैनिक के प्रति आभार किया और इसी के साथ   उपोषण समाप्त हो  गया .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *