Career

टीवी एंकर कैसे बनें? TV Anchor Kaise Bane?

tv anchor kaise bane
Spread the love

आजकल टीवी न्यूज़ एंकर एक आकर्षक पेशा बन गया है. समाज में इनके बढ़ते प्रभाव के कारण आज बहुत से युवा न्यूज़ एंकर बनना चाहते हैं. एंकर जनता को सुर्खियों और वर्तमान घटनाओं के बारे में सूचित करते हैं.

लाइव प्रसारण के दौरान, वे फील्ड और इन-स्टूडियो संवाददाताओं का परिचय देते हैं जो विशिष्ट कहानियों पर अतिरिक्त जानकारी प्रदान करते हैं. एंकर उन पेशेवरों का भी साक्षात्कार कर सकते हैं जिनके पास कहानी से संबंधित राय या तथ्य हैं.

एक न्यूज़ एंकर के रूप में काम करना काफी चुनौतीपूर्ण है. यहाँ लगातार कैमरे पर देखने की क्षमता पैदा करनी पडती है. जरुरत के मुताबिक आपको घंटों काम करना पड़ता है. यहाँ टीमवर्क महत्वपूर्ण है और एक एंकर के लिए शारीरिक सहनशक्ति की भी आवश्यकता होती है.

आप एक छोटे समाचार चैनल से करिअर शुरू करके अंततः एक बड़े समाचार प्रदाता तक बन सकते हैं. इस लेख में हम आपको बताने जा रहे हैं कि एक एंकर बनने के आप में क्या क्या गुण होने चाहिए.

१. न्यूज़ एंकर बनने के लिए स्नातक की डिग्री जरुरी है. इसके साथ ही साथ पत्रकारिता, जन संचार का कोर्स करना भी जरुरी है. इसके लिए अनुभव या इंटर्नशिप भी महत्वपूर्ण है.

एंकर बनने के लिए साक्षात्कार कौशल, दर्शकों के साथ जुड़ने और पत्रकारों और मेहमानों के साथ बातचीत करने की क्षमता, दृढ़ता और निष्पक्षता, शारीरिक सहनशक्ति, पेशेवर छवि, सोशल मीडिया का ज्ञान तथा प्रसारण और न्यूज़रूम उपकरणों के उपयोग का ज्ञान जरुरी है.

२. एंकर बनने के लिए आप सबसे पहले स्नातक की डिग्री प्राप्त करें. कई नियोक्ता पत्रकारिता या जनसंचार में स्नातक की डिग्री वालों को प्राथमिकता देते हैं. आपके पास शोध, लेखन और संभाषण आदि की योग्यता जरुरी है.

३. इसमें अनुभव सबसे महत्वपूर्ण है. अनुभव प्राप्त करने के लिए कालेज के कार्यक्रमों में भाग लें. कई छात्रों को पहला वास्तविक अनुभव स्कूल के कार्यक्रमों के माध्यम से मिलता है. कई स्कूलों में एक अखबार होता है, और कुछ में रेडियो या टेलीविजन स्टेशन भी होते हैं.

ये अतिरिक्त गतिविधियाँ छात्रों को समाचार व्यवसाय से परिचित कराती हैं. इसके अतिरिक्त बहस में भाग लेने से छात्र को आत्मविश्वास और स्पष्ट बोलने की आवाज विकसित करने में मदद मिल सकती है.

४. फील्ड का अनुभव हासिल करने के लिए इंटर्नशिप पूरी करें. स्कूल के कार्यक्रमों के साथ काम करने के अलावा आप मीडिया संस्थानों में काम करके अनुभव ले सकते हैं. कई समाचार संस्थान गर्मियों में अंशकालिक इंटर्न को किराए पर लेते हैं.

ये इंटर्नशिप एक व्यावहारिक आउटलेट प्रदान करती है जहां एक छात्र पूर्णकालिक कैरियर से पहले टेलीविजन और समाचार क्षेत्र को सीख और समझ सकता है. इन इंटर्नशिप में काम करते समय छात्र भविष्य के उपयोग के लिए काम के संपर्क प्राप्त कर सकते हैं और विकसित कर सकते हैं.

५. पत्रकारिता के छात्र को एक मजबूत शैक्षिक पृष्ठभूमि, कार्य अनुभव और समाचार तथा टेलीविजन उद्योग में संपर्कों के साथ रोजगार के लिए तैयार किया जाता है. कई एंकर छोटे समाचार चैनल या शाखा कार्यालयों से काम शुरू करते हैं और यहाँ से एक अच्छी प्रतिष्ठा विकसित कर बड़े समाचार चैनलों पर बड़ा अवसर पा जाते हैं.

६. नियोक्ता आमतौर पर एक से तीन साल के पेशेवर अनुभव वाले एंकर की तलाश करते हैं, इसलिए छात्रों को आवश्यक अनुभव बनाने के लिए संवाददाताओं के रूप में काम करने की आवश्यकता हो सकती है.

अनुपस्थित एंकर के लिए रिपोर्टर्स को कभी-कभी काम का अवसर मिल सकता है. न्यूज़ एंकर पद के लिए आवेदन करते समय, पिछले ऑन-एयर अनुभवों की एक डीवीडी रील आमतौर पर आवश्यक होती है.

७. यदि रोजगार की तत्काल आवश्यकता नहीं है तो मास्टर डिग्री कार्यक्रम पूरा करने से छात्रों को इस क्षेत्र का अतिरिक्त प्रशिक्षण मिलेगा. प्रसारण पत्रकारिता और संचार में मास्टर डिग्री उपलब्ध हैं. नौकरी के अवसरों या प्रगति की मांग करते समय मास्टर डिग्री वाले उम्मीदवारों को आमतौर पर एक प्रतिस्पर्धात्मक लाभ होता है.

८. टेलीविजन समाचार एंकर्स के पास प्रसारण पत्रकारिता या संचार की डिग्री, प्रासंगिक इंटर्नशिप अनुभव होना चाहिए. इस क्षेत्र में सफल होने के लिए काम का अनुभव होना चाहिए. कड़ी मेहनत, दृढ़ता, निष्पक्षता, लेखन कौशल इस क्षेत्र में सफल होने के लिए आवश्यक हैं.

दोस्तों इस लेख में हमने न्यूज़ एंकर बनने के लिए जरुरी सभी बातों का उल्लेख कर दिया है. आप यदि कोई और जानकारी चाहते हैं तो आप कमेन्ट बाक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं.


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *